शनिवार, 11 फ़रवरी 2017

विज्ञान, मौसम तथा जलवायु






 
/2017/02/bhugol-and-vigyaan.html

1. जलवायु (Climate) शब्द से क्या तात्पर्य होता है?

एक विशाल क्षेत्र में लम्बी समयावधि में मौसम की अवस्थाओं तथा विविधताओं का कुल योग ही जलवायु है (अर्थात जलवायु में परिवर्तन बहुत लम्बी समयावधि में ही घटित होते हैं जैसे वर्तमान में पृथ्वी के तमाम स्थानों पर ग्लोबल वार्मिंग की स्थिति विद्यमान है जो कई वर्षों में घटित कारणों के चलते उजागर हुई है)


 या

जलवायु क्या है?

जलवायु किसी बड़े इलाके का औसत मौसम है जो कि एक लम्बे समय से बना रहता है. उदाहरण के लिए भारत की जलवायु यूरोप की तुलना में भिन्न है. यूरोप में अक्सर बर्फबारी होती है और भयानक सर्दी पड़ती है. भारत में ऐसी बर्फबारी और सर्दी नहीं पड़ती. सरल शब्दों में किसी इलाके का किसी एक तरह का औसत मौसम अगर लम्बे समय से बना रहता है तो उसे उस इलाके की जलवायु कहा जाता है. मौसम जहां कुछ दिनों या घंटों में बदल सकता है वहीं जलवायु बदलने में सैकड़ों हजारों साल का समय लगता है.



2. मौसम (Weather) क्या है? –

 एक विशेष समय में एक क्षेत्र के वायुमण्डल की अवस्था मौसम होती है (मौसम की अवस्था एक ही दिन में कई बार बदल सकती है)


3. जलवायु (Climate) तथा मौसम (Weather) दोनों को प्रभावित करने वाले प्रमुख तत्व कौन से हैं?

तापमान (Temperature), वायुमण्डलीय दाब (Atmoshpheric pressure), पवन (Wind), आर्द्रता (Humidity) तथा वर्षण (Precipitation)


4.  भारत की जलवायु की व्याख्या के लिए कौन सा एक विशिष्ट शब्द प्राय: प्रयुक्त किया जाता है?

मानसून – Monsoon (भारत को मानसून-आधारित जलवायु वाला देश बताया जाता है)


5. “मानसून” (Monsoon) शब्द किस भाषा से उत्पन्न हुआ है?

अरबी (“मानसूनशब्द अरबी शब्दमौसिम” (‘Mausim’) से उत्पन्न हुआ है)


6. “मानसूननामक प्रक्रिया में क्या होता है?

मानसून नामक प्रक्रिया में एक वर्ष के दौरान वायु की दिशा में ऋतु के अनुसार परिवर्तन होता है (सर्दियों में वायु स्थल से समुद्र की ओर तथा गर्मियों में वायु समुद्र से स्थल की ओर बहती है)


7. वे पहले व्यक्ति कौन थे जिन्होंने मानसून प्रणाली में पवन के उल्टी दिशा से बहने की परिघटना पर ध्यान दिया था?

ऐतिहासिक काल में भारत आने वाले विदेशी नाविक (पुराने युग में भारत आने वाले विदेशी नाविकों ने पवन तंत्र की दिशा उलट जाने की घटना पर ध्यान दिया था जिसके कारण उन्हें लाभ होता था। ऐसा इसलिए था क्योंकि उनके जहाज पवन के प्रवाह की दिशा पर निर्भर थे। भारत में व्यापारी बनकर आने वाले अरब नाविकों ने ही प्रणाली कोमानसूननाम दिया था)


8. वे कौन से 6 तत्व हैं जो किसी स्थान की जलवायु को प्रभावित करते हैं?

अक्षांश (latitude), ऊँचाई या तुंगता (Altitude), वायु दाब एवं पवन तंत्र (Pressure and Winds), समुद्र से दूरी (Distance from the Sea), महासागरीय धाराएं (The State of Ocean Currents) तथा उच्चावच लक्षण (Relief Features)


9.  भारत की जलवायु को किस वृहद श्रेणी में रखा जा सकता है?

उष्णकटिबंधीय (Tropical) अथवा उप-उष्णकटिबंधीय (Sub-tropical)



10.  भारत की समग्र जलवायु से सम्बन्धित एक प्रमुख तथ्य क्या है?

यहाँ की जलवायु में अपार विविधता (incredible variety) है (यहाँ उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों की प्रमुखता है लेकिन इसके बावजूद यहाँ वर्षा वन से लेकर, सूखे रेगिस्तान, ठण्डे रेगिस्तान, टुण्ड्रा समान क्षेत्र, घास के मैदानों, पठारों तक सब कुछ मौजूद है)












 1. विज्ञान में तत्व (Element) से क्या तात्पर्य होता है?

तत्व वे पदार्थ होते हैं जिनका निर्माण एक ही प्रकार के परमाणुओं से किया जाता है (यानि वे शुद्ध पदार्थ होते हैं। यह भी कहा जा सकता है कि तत्वों का निर्माण ऐसे परमाणुओं (atoms) से किया जाता है जिनके न्यूक्लियस (Nucleus) या नाभिक में प्रोटॉनों (Protons) की समान संख्या होती है। तत्वों को उनकी परमाणु संख्या (Atomic Numbers) से पहचाना वर्गीकृत किया जाता है)


2. तत्वों का एक अत्यंत महत्वपूर्ण गुण क्या होता है?

तत्वों को ना तो रासायनिक रूप से तोड़ा जा सकता है तथा ही दो या दो से अधिक पदार्थों से उनका निर्माण किया जा सकता है


 3. हमारे आस-पास पाए जाने वाले तत्वों के प्रमुख उदाहरण क्या हैं?

हाइड्रोजन, ऑक्सीजन, ताँबा, लोहा यूरेनियम तत्वों के प्रकार हैं (तत्वों को उनकी विशिष्ट परमाणु संख्या से जाना जाता हैजैसे हाइड्रोजन 1, ऑक्सीज़न 8, ताँबा 29, लोहा 26 तथा यूरेनियम 92)



4. अभी तक मानव को कुल कितने तत्वों का ज्ञान हुआ है?

– 118


 5. मनुष्य द्वारा ज्ञात किया गया 118वाँ तथा सबसे नया तत्व कौन सा है?

यूननोक्टियम (Ununoctium) – (जिसका पता लगाने के बारे में आधिकारिक घोषणा 2006 में की गई थी)



6. मनुष्य को ज्ञात तवों में से कितने प्राकृतिक अवस्था (Natural State) में पाए जाते हैं?

– 98 (उल्लेखनीय है कि रसायनशास्त्र की अवर्त्त सारणी (Periodic Table) में दिए गए प्रथम 98 तत्व प्राकृतिक अवस्था में पाए जाते हैं जबकि उनके बाद के तत्व रासायनिक तत्व हैं जिनका निर्माण कुछ विशिष्ट रासायनिक क्रियाओं के दौरान होता है। इसलिए ऐसे तत्वों को मानव-निर्मित अथवा सिंथेटिक तत्व कहा जाता है)


7. प्राकृतिक अवस्था में पाए जाने वाले कुछ प्रमुख तत्व कौन से हैं?

हाइड्रोजन, हीलियम, स्वर्ण, चाँदी, ताँबा, निकल, ऑक्सीज़न, यूरेनियम, इत्यादि।


8. मानव द्वारा निर्मित प्रथम दो मानव-निर्मित अथवा सिंथेटिक तत्व कौन से थे?

आइंस्टेनियम (Einsteinium) और फेर्मियम (Fermium) – (आइंस्टेनियम और फेर्मियम का निर्माण 1952 में किए गए प्रथम हाइड्रोजन बम के परीक्षण विस्फोट के बाद उत्पन्न रासायनिक मलबे से किया गया था)


9. मनुष्य द्वारा निर्मित तत्व (यानि सिंथेटिक तत्वों) के कुछ उदाहरण दीजिए?

आइंस्टेनियम (Einsteinium), फेर्मियम (Fermium), मेण्डेलीवियम (Mendelevium), कॉपरनीसियम (Copernicium), यूननोक्टियम (Ununoctium), इत्यादि


10. सिंथेटिक तत्वों की प्रमुख विशेषता क्या होती है?

ये तत्व प्राकृतिक अवस्था में नहीं पाए जाते हैं, इनका निर्माण प्रयोगशाला में नियंत्रित परिस्थितियों में होता है तथा इनका जीवन काल अत्यंत अस्थिर होता है (कुछ सिंथेटिक तत्वों का जीवन-काल कुछ सेकेण्ड का ही होता है)


11. हमारे ब्रह्माण्ड में सर्वाधिक प्रचुर मात्रा में पाया जाने वाला तत्व कौन सा है?

हाइड्रोजन – Hydrogen (उसके बाद क्रमश: हीलियम, ऑक्सीज़न और कॉर्बन की मात्रा पाई जाती है)


12. पृथ्वी पर सर्वाधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व कौन सा है?

लौह या लोहा (Iron)


13. पृथ्वी की ऊपरी सतह (भूपर्पटी या क्रस्ट- Crust) में सर्वाधिक पाया जाने वाला तत्व कौन सा है?

ऑक्सीज़न (Oxygen)

 pre. 

Current affairs 23 january2017 in hindi




next.

























0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
Child Education Child Shiksha - Gk Updates | Current affairs