रविवार, 6 दिसंबर 2015

करेंट अफेयर्स सारांश: दिसम्बर 2015 ,अर्थव्यवस्था ,इंडिया | वर्ल्ड दिस वीक,पर्यावरण | पारिस्थितिकी

 
                                  www.gkinhindi.net


 


 

1. एनटीसी ने ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया के साथ समझौता किया


current affairs 2015 in hindi question answer


अर्थव्यवस्था करेंट अफेयर्स

 

राष्ट्रीय वस्त्र निगम (एनटीसी) लिमिटेड ने 3 नवम्बर 2015 को सत्यनिष्ठा पैक्ट अपनाने हेतु ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया (टीआईआई) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये.


एनटीसी इस समझौते पर हस्ताक्षर करने वाला 51वां सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम हैं एवं 49वां केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम बन गया है.


सत्यनिष्ठा पैक्ट एक ऐसी ईकाई है जो यह सुनिश्चित करती है कि कंपनी एवं सरकार के मध्य होने वाले सभी कार्य सुचारु, इमानदारी एवं सत्यता के साथ किये जा रहे हैं. यह किसी भी अनैतिक कार्य, घूसखोरी अथवा अविश्वसनीय कार्यों पर भी बाहरी स्रोतों द्वारा नज़र रखती है.

राष्ट्रीय वस्त्र निगम (एनटीसी) लिमिटेड

यह एक सार्वजिनक क्षेत्र उपक्रम है जो राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न कानूनों के तहत कार्यरत है. वर्ष 2013-14 में एनटीसी लिमिटेड ने 12 बिलियन रुपये का लाभ अर्जित किया.

 

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया (टीआईआई)

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया (टीआईआई) ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल बर्लिन का ही भाग है. यह वर्ष 2005 से सार्वजनिक क्षेत्र में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से कार्यरत है. ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल व्यवस्था में पारदर्शिता लाने हेतु बड़ी भूमिका निभाता है.

वर्ष 2006 में ओएनजीसी ऐसा पहला सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम था जिसने ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये.


ओड़िसा पॉवर जनरेशन कारपोरेशन लिमिटेड एवं नई दिल्ली म्युनिसिपल कारपोरेशन एकमात्र सार्वजानिक उपक्रम हैं जिन्होंने सत्यनिष्ठा पैक्ट अपनाने हेतु हस्ताक्षर किये.

 




2.आईएमएफ ने चीन की मुद्रा युआन को विशिष्ट वर्ग आरक्षित मुद्रा के रूप में मंजूरी दी
 03-DEC-2015

Top Picks :   2015 करेंट अफेयर्स, अंतरराष्ट्रीय | विश्व, 2015 करेंट अफेयर्स

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने 30 नवंबर  2015 को चीन की मुद्रा युआन को मान्यता प्राप्त मुद्रा यानि अभिजात वर्ग की आरक्षित मुद्रा के रूप में शामिल कर लिया. युआन की मान्यता 1 अक्टूबर 2016 से प्रभावी होगी.

 युआन को चीनी रॅन्मिन्बी (आरएमबी) के रूप में भी जाना जाता है. युआन को आईएमएफ परिवार में शामिल करने से पहले मौजूदा मानदंडो का परीक्षण किया गया. उस परीक्षण पर सटीक होने के बाद कार्यकारी बोर्ड विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) ने नियमित रूप से पाँच-वार्षिक समीक्षाओं के बाद कार्रवाई को अंजाम दिया.
समावेशन क्या है?


युआन स्वतंत्र रूप से प्रयोग करने योग्य मुद्रा होगी और अमेरिकी डॉलर, यूरो, जापानी येन और ब्रिटिश पाउंड के साथ साथ, पांचवें मुद्रा के रूप में एसडीआर बास्केट में शामिल किया जाएगा.

a. 1 अक्टूबर 2016 को नए एसडीआर परिवार का परिचय होगा, इन परिवर्तनों को समायोजित करने के लिए कोष अन्य सदस्यों को और एसडीआर नेतृत्व उपयोगकर्ताओं को पर्याप्त समय प्रदान करेगा.

b. आईएमएफ परिवार में विविधता लाने और दुनिया की प्रमुख मुद्राओं के प्रतिनिधियों की संख्या  बढाकर एसडीआर के आकर्षण में वृद्धि करने के लिए आरएमबी को आईएमएफ में शामिल किया गया है.

c. एसडीआर में युआन का समायोजन चीन के द्रष्टिकोण से बड़ी राजनीतिक जीत है. आरक्षित मुद्रा के रूप में युआन की वांछनीयता को निवेशकों के बीच बढ़ाना, वैश्विक आरक्षित मुद्रा के रूप में डॉलर के वर्चस्व को कमजोर करेगा.

d. वैश्विक वित्तीय प्रणाली में चीनी अर्थव्यवस्था के एकीकरण का यह निर्णय महत्वपूर्ण मील का पत्थर सिद्ध होगा.

e. यह भी देखने में आया है कि चीनी अधिकारियों ने चीन की मौद्रिक और वित्तीय प्रणालियों में सुधार के लिए पिछले कुछ वर्षों में सराहनीय प्रगति की है.

एक एसडीआर क्या है?

1. विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) प्रणाली को 1969 में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा ब्रेटन वुड्स स्थिर विनिमय दर प्रणाली को सहयोग करने के लिए बनाया था.

2. आईएमएफ, एसडीआर के बजाय अंतरराष्ट्रीय आरक्षित परिसंपत्ति का उपयोग अपने सदस्य देशों के मौद्रिक भंडार के पूरक रूप में करता है. एसडीआर का मूल्यांकन चार अंतरराष्ट्रीय मुद्राओं के परिवार पर आधारित है. "स्वतंत्र रूप से प्रयोग करने योग्य" मुद्राओं के साथ एसडीआर का विनिमय किया जा सकता है.

3. अक्टूबर 2015 से समय-समय पर एसडीआर आईएमएफ के सदस्यों को आवंटित करता रहता है. युआन के जुड़ जाने के बाद  आईएमएफ में पांच मुद्रा हो जाएगी.

4. इसके अलावा  एसडीआर, आईएमएफ पर दावा नहीं है, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के सदस्यों के लिए स्वतंत्र रूप से प्रयोग करने योग्य मुद्राओं पर संभावित दावा है.

एसडीआर को जोड़ पाने के लिए मापदंड क्या हैं?

एसडीआर बास्केट जिस पर एसडीआर का मूल्य आधारित है की आम तौर पर आईएमएफ के कार्यकारी बोर्ड द्वारा हर पांच साल में समीक्षा की जाती है. समीक्षा, यह सुनिश्चित करने के लिए की जाती है कि एसडीआर वैश्विक व्यापार और वित्तीय प्रणालियों में मुद्राओं के सापेक्ष महत्व को दर्शाता है या नहीं.
1999 में पिछली बार नई मुद्रा यूरो को जोड़ा गया था, जबकि तकनीकी रूप से इसे निवर्तमान जर्मन देत्स्मार्क और फ्रेंच फ़्रैंक से प्रतिस्थापित किया गया था.

एसडीआर का पात्र बनने के लिए मुख्य मानदण्ड हैं-

निर्यात मानदंड:  बास्केट का एक हिस्सा बनने के लिए, किसी भी देश का निर्यात पांच साल की अवधि में सबसे अधिक मूल्य का  होना चाहिए. दूसरे शब्दों में मुद्रा बास्केट में शामिल होने के लिए आईएमएफ के सदस्यों या मुद्रा यूनियनों द्वारा जारी किए गए सम्बंधित देश की मुद्रा वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक केंद्रीय भूमिका निभाती हो.

स्वतंत्र रूप से प्रयोग करने योग्य मानदंड: बास्केट का सदस्य होने के लिए आईएमएफ के कार्यकारी बोर्ड द्वारा स्वतंत्र रूप से प्रयोग करने योग्य मुद्रा" सुनुश्चित की जानी चाहिए. जैसा कि शाब्दिक अर्थ है, मुद्रा व्यापक रूप से अंतरराष्ट्रीय लेन-देन के लिए भुगतान के लिए इस्तेमाल की जा रही हो और व्यापक रूप से बाजार में कारोबार विनिमय कर रही हो.

रॅन्मिन्बी, चीन रिपब्लिक के कम्युनिस्ट पीपुल्स द्वारा 1949 में इसकी स्थापना के समय मुद्रा को दिया गया अधिकारिक नाम है. यानी यह लोगों की मुद्रा है.

दूसरी ओर  शब्द युआन रॅन्मिन्बी से पीछे रह जाता है. युआन डॉलर (ढाला चांदी का सिक्का) के लिए चीनी शब्द है.



Is this article important for exams ?




विश्व स्तर पर मनाया गया अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस

करेंट अफेयर्स सारांश: 03 दिसम्बर 2015
Read more Current Affairs on: Yuan, Chinese Renminbi, RMB, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, आईएमएफ,

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस (आईवीडी) 5 दिसम्बर 2015 कोदुनिया बदल रही है वर्ल्ड इज चेंजिंग क्या आप? इसके सह भागी हैं! विषय के साथ दुनिया भर में मनाया गया.

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस का इस वर्ष का विषय हाल में शुरू किए गए वैश्विक लक्ष्यों, सतत विकास के लिए 2030 एजेंडा को लागू करने और उसका हिस्सा बनने के लिए प्रत्येक नागरिक के लिए एक चुनौती है. व्यक्ति स्वयंसेवा के माध्यम से, समुदायों और सरकारों को गतिशील और व्यस्त करकेसतत विकास के एजेंडे को प्रभावित कर सकते हैं.

यह दिन नए वैश्विक लक्ष्यों को लागू करने के लिए काम कर रहे स्वयंसेवकों संगठनों द्वारा किए गए प्रयासों को अपने ही समुदायों, सामूहिक संगठनों, गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ), संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों, सरकारी अधिकारियों और निजी क्षेत्र के बीच उनके काम को बढ़ावा देने के लिए उनके प्रयासों का जश्न मनाने और प्रोत्साहित करने हेतु स्वयंसेवकों और संगठनों के लिए एक अनूठा अवसर के रूप में देखा जाता है.
यह दिन नई वैश्विक लक्ष्यों को लागू करने के लिए काम कर रहे स्वयंसेवकों को विशेष श्रद्धांजलि देने का भी दिन है.


पृष्ठभूमि
 अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस (आईवीडी) 17 दिसम्बर 1985 को संकल्प 40/212 के माध्यम से संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासभा द्वारा स्थापित किया गया था.
तभी से सभी सरकारें, संयुक्त राष्ट्र प्रणाली और नागरिक सामाजिक संगठन सफलतापूर्वक 5 दिसंबर को दुनिया भर में स्वयंसेवकों दिवस मनाने के लिए शामिल एकत्रित होते हैं.





Is this article important for exams:








आईफा उत्सवमचेन्नई में वर्षा के कारण स्थगि
आईफा उत्सवम प्रबंधन कार्यक्रम स्थगित करने की घोषणा 
Top Picks :  दिसंबर 2015 करेंट अफेयर्स, कला | संस्कृति, न्यूज़ कैप्सूल,  
 3 दिसम्बर 2015 
 ‘आईफा उत्सवम प्रबंधन ने 3 दिसम्बर 2015 को चेन्नई में भारी वर्षा में फसे लोगों से अपनी सहानभूति प्रकट करने के लिएआईफा उत्सवमके दिसम्बर माह अनुसूचित कार्यक्रम को स्थगित करने की घोषणा की.
दक्षिण भारतीय फिल्म उद्योग, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव और तेलंगाना के राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया.

विदित हो इस वर्ष यह आईफ उत्सवम का प्रथम संस्करण था. यह कार्यक्रम 4 दिसम्बर से 6 दिसम्बर 2015 के मध्य हैदराबाद के गाचिबावेली स्टेडियम में आयोजित होना था.
आईफा उत्सवम के प्रथम संस्करण में कमल हासन, चिरंजीवी और अक्किनेनी नागार्जुन जैसे लोकप्रिय दक्षिण भारतीय कलाकारों के शामिल होने की संभावना था.

आईफ उत्सवम को आयोजित करने का उद्देश्य दक्षिण भारत के फिल्म उद्योग को पहचान प्रदान करना है.
ज्ञात हो कि दक्षिण भारत फिल्म उद्योग में तमिल, तेलुगू, मलयालम और कन्नड़ फिल्म उद्योग संयुक्त रूप से शामिल हैं.
Read more Current Affairs on:   2015 करेंट अफेयर्सपरीक्षण और प्रश्न करेंट अफेयर्स मैगजीनकरेंट अफेयर्स वीडियो राष्ट्रीय | भारत     अर्थव्यवस्था


Is this article important for exams ?   


रेल मंत्रालय एवं जल संसाधन मंत्रालय के मध्य समझौता

Top Picks :  दिसंबर 2015 करेंट अफेयर्स, राष्ट्रीय | भारत, 2015 करेंट अफेयर्स
3 दिसंबर 2015
रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु एवं जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती की उपस्थिति में रेल उद्येश्यों के लिए गंगा एवं यमुना नदी में स्थित सीवेज/ उत्प्रवाही उपचार संयंत्रों से उपचार के बाद पीने के अयोग्य जल के उपयोग को लेकर रेल मंत्रालय एवं जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय के बीच 03 दिसंबर 2015 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए.
विदित हो भारतीय रेल अपनी विभिन्न गतिविधियों के लिए जल के सबसे बड़े उपभोक्ताओं में से एक है.

समझौता ज्ञापन की मुख्य विशेषताएं

गंगा एवं यमुना नदी में स्थित सीवेज/ उत्प्रवाही उपचार संयंत्रों से उपचार के बाद पीने के अयोग्य जल के विभिन्न उपयोगों को लेकर रेल मंत्रालय एवं जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया.

जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय का लक्ष्य गंगा एवं यमुना के दोनों तटों पर सीवेज/ उत्प्रवाही उपचार संयंत्रों (एसटीपी/ ईटीपी) के लिए नेटवर्क स्थापित करने का है जिससे कि नदियों में गिरने वाले प्रदूषणों को रोका जा सके.

एसटीपी/ ईटीपी से उपचार हो चुके जल का उपयोग विभिन्न गैर लाभकारी उद्देश्यों के लिए किया जाएगा.

जहां कहीं भी रेलवे स्टेपशनों समेत ऐसे प्रतिष्ठानों के लिए पीने के अयोग्य पानी की जरूरत होगी, जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय इसके लिए आवश्यक पाइपलाइन, पंप आदि सुलभ कराएगा. जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय इसके लिए प्रारंभिक राशि का भुगतान करेगा.

रेल मंत्रालय उनके द्वारा उपयोग में लाए जाने वाले ऐसे पानी के लिए राशि अदा करेगा जिसका फैसला दोनों मंत्रालय आपसी सहमति से करेंगे.
Is this article important for exams ?   
Read more Current Affairs on: Ministry of Railways, Ministry of Water Resources, रेल मंत्रालय, जल संसाधन मंत्रालय

Don't Miss In 2015 Current Affairs

सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने हेतु विश्व के उद्योगपतियों ने समझौता किया
 03-DEC-2015
Top Picks :  पर्यावरण | पारिस्थितिकी, दिसंबर 2015 करेंट अफेयर्स, अर्थव्यवस्था , 2015 करेंट अफेयर्स

सौर ऊर्जा के प्रयोग को बढ़ाने के लिए 28 नवम्बर 2015 को बिल गेट्स, मुकेश अंबानी, रतन टाटा और जैक मा सहित दुनिया के अन्य विशिष्ट उद्योगपतियों ने एक समझौता किया. इसे ब्रेकथ्रू एनर्जी कोऐलिशन नाम दिया गया है

ब्रेकथ्रू एनर्जी कोऐलिशन में 28 अंतरराष्ट्रीय निवेशक शामिल हैं. इस ग्रुप का मकसद अनुसंधान कक्ष से बाज़ार तक सस्ती, विश्वसनीय और कार्बन फ्री एनर्जी मुहैया करने की क्षमता प्रदान करने वाली कंपनियों को प्रोत्साहित करना है.
ब्रेकथ्रू एनर्जी कोऐलिशन में ऐसे 100 से अधिक देश शामिल होंगे जहां सूर्य का प्रकाश प्रचुरता से उपलब्ध होता है. इनका मकसद स्वच्छ, सस्ती और नवीकरणीय सौर ऊर्जा के प्रयोग को बढ़ावा देना है.

इससे विश्व भर की सरकारों को विशिष्ट अविष्कारों की सहायता से स्वच्छ ऊर्जा प्राप्त करने के रास्ते पर आगे बढ़ने में सहायता मिलेगी. यूके वर्जिन ग्रुप के रिचर्ड ब्रैंसन, फेसबुक के मार्क जुकरबर्ग और हेवलेट पैकार्ड के मेग वाइटमैन भी इस कोऐलिशन के हिस्सा होंगे.
Is this article important for exams ? 

 

विश्व स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस मनाया गया

Top Picks :  दिवस | वर्ष | सप्ताह , दिसंबर 2015 करेंट अफेयर्स, न्यूज़ कैप्सूल, 2015 करेंट अफेयर्स

अंतर्राष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस
2 दिसंबर 2015

गुलामी उन्मूलन के लिए 2 दिसंबर 2015 को वैश्विक स्तर पर मानव तस्करी, बाल श्रम और आधुनिक गुलामी को पूर्णतः समाप्त करने के उद्देश्य से अंतर्राष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस मनाया गया.
अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ) के अनुसार प्रत्येक वर्ष निजी अर्थव्यवस्था में लगभग 21 मिलियन बेगार पीड़ितों की वजह से 150 बिलियन अवैध मुनाफा होता है.
इस समस्या से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन ने वैश्विक प्रयासों को मजबूत करने और 2016 तक इसे समाप्त करने के उद्देश्य से कानूनी रूप से बाध्यकारी प्रोटोकॉल को अपनाने का प्रयास किया है.

अंतर्राष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस के बारे में

अंतरराष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस संयुक्त राष्ट्र महासभा में मानव तस्करी और वेश्यावृत्ति के शोषण विषय पर हुए सम्मेलन में 2 दिसंबर 1929 को प्रथम बार मनाया गया था.

इन दिन गुलामी के परंपरागत रूपों जैसे मानव तस्करी, यौन शोषण, बाल श्रम, जबरदस्ती शादी और सशस्त्र संघर्ष के दौरान बच्चों की सेना में जबरन भर्ती से सम्बंधित मुद्दों पर व्यापक विचार विमर्श के साथ सफल परिणाम प्राप्त करने की दिशा में सार्थक कदम उठाने पर जोर दिया जाता है.

 Related posts:

Is this article important for exams ?

 

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जल संसाधन प्रबंधन और विकास सहयोग पर इजरायल के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर को मंजूरी दी


Top Picks :  दिसंबर 2015 करेंट अफेयर्स, अंतरराष्ट्रीय | विश्व, 2015 करेंट अफेयर्स

 जल संसाधन प्रबंधन और विकास सहयोग के क्षेत्र में भारत और इजरायल के बीच समझौता

2 दिसंबर 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जल संसाधन प्रबंधन और विकास सहयोग के क्षेत्र में भारत और इजरायल के बीच समझौता (एमओयू) के एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी है.
जल संसाधन मंत्रालय ने जल उपयोग दक्षता, सूक्ष्म सिंचाई, अपशिष्ट जल, विलवणीकरण, जलभृत पुनर्भरण के पुन: उपयोग में इसराइल की सफलता को ध्यान में रखते हुए इस देश के अनुभव और विशेषज्ञता से लाभ उठाने के उद्देश्य से इसराइल के साथ समझौता करने का निर्णय लिया है.

समझौता ज्ञापन की मुख्य विशेषताएं-

यह द्विपक्षीय सहयोग दोनों देशो के मध्य जल का पर्याप्त प्रयोग,सूक्ष्म सिंचाई, रीसाइक्लिंग/अपशिष्ट जल, विलवणीकरण, जलभृत पुनर्भरण जल संरक्षण तकनीक के कुशल उपयोग की तकनीकी को मजबूती प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.
समझौता ज्ञापन में वर्णित गतिविधियों की देख रेख के लिए एक संयुक्त कार्य समूह का गठन किया जायेगा.

बॉक्स पर क्लिक करके यहाँ से पीडीएफ डाउनलोड..

 


Is this article important for exams ?   


Categories




 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
Child Education Child Shiksha - Gk Updates | Current affairs