शनिवार, 16 अगस्त 2014

Prerak kahaniya

बाप पतंग उड़ा रहा था बेटा ध्यान से देख

रहा था

थोड़ी देर बाद बेटा बोला पापा ये धागे

की वजह से पतंग और ऊपर

नहीं जा पा रही है इसे तोड़ दो

बाप ने धागा तोड़ दिया

पतंग थोडा सा और ऊपर गई और उसके बाद

निचे आ गई

तब बाप ने बेटे को समझाया

बेटा जिंदगी में हम जिस उचाई पर है,

हमें अक्सर लगता है ,

की कई चीजे हमें

और ऊपर

जाने से

रोक रही है,

जैसे

घर,

परिवार,

अनुशासन,

दोस्ती,

और हम उनसे आजाद होना चाहते है,

मगर यही चीज होती है

जो हमें उस उचाई पर बना के रखती है.

उन चीजो के बिना हम एक बार तो ऊपर

जायेंगे

मगर

बाद में हमारा वो ही हश्र होगा, जो पतंग

का हुआ.

इसलिए जिंदगी में कभी भी

अनुशासन का,

घर का ,

परिवार का,

दोस्तों का,

रिश्ता कभी मत तोड़ना

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
Child Education Child Shiksha - Gk Updates | Current affairs